Sunday, 20 November 2022

Tulsi ke 5 Niyam:तुलसी दल तोडते समय भूलकर भी न करें ये गलती वरना रूठ जाएगी लक्ष्मी

Tulsi ke 5 Niyam:तुलसी दल तोडते समय भूलकर भी न करें ये गलती वरना रूठ जाएगी लक्ष्मी 

Tulsi plant rules in hindi दोस्तों हिंदू धर्म में तुलसी को बहुत पवित्र माना जाता है, उर यह पूजनीय तथा औषधीय गुणों से भी भरपूर है और इसीलिए लगभग हर घर में तुलसी का पौधा (Tulsi plant in home) होता है। लोग तुलसी को तीर्थ स्थान की तरह मानकर इसकी पूजा करते हैं। और लगभग सभी धार्मिक अनुष्ठानों में तुलसी का प्रयोग शुभ माना जाता है। लेकिन तुलसी जितनी गुणकारी व लाभप्रद है उतनी ही नुकसान भी दे सकती इसकलिए तुलसी के पत्ते तोड़ने के कुछ नियम जानना बहुत जरूरी हैं....... आइए जानते हैं कि तुलसी के पत्ते तोड़ने के कौन कौन से नियम है और कौन सी गलतियां बिल्कुल नहीं करनी चाहिए......http://youtube.com/@ArunAstrologer

1- तुलसी का पत्ता जब भी तोडना हो तो इसके लिए उचित समय सुबह और दिन में ही होता है अर्थात सूर्यास्त के बाद तुलसी दल नहीं तोडना चाहिए। इससे लक्ष्मी जी रूठ जाती है और दुर्भाग्य घर कर जाता है।

2- बिना स्नान किए तुलसी का स्पर्श नहीं करनी चाहिए इससे मां लक्ष्मी रूठ जाती है सबसे पहले तुलसी को प्रणाम करना चाहिए फिर ही तोडें तुलसी दल।

3- तुलसी विशेषकर इस दिन न तो तोडनी चाहिए और नाही जल देना चाहिए..... रविवार, चंद्रग्रहण, सूर्य ग्रहण, एकादशी इससे लक्ष्मी रूठ जाती है क्योंकि माता तुलसी इन दिनों बिष्णु जी के निमित्त निर्जला व्रत रखती है।

4- तुलसी के पत्ते सूख जाने पर इसे पैर के नीचे न आनें दें इसे उठाकर तुलसी की जड में ही डालें ऐसा न करने पर घर में दरिद्रता आ जाती है, और धन का अभाव रहता है।

5- तुलसी के पौधे में सुबह जल दे तथा सांय की घी का दीपक जलाएं, शाम को दीपक नहीं जलाना चाहिए और इसमें अधिक जल भी न डाले इससे तुलसी सूख जाती है और तुलसी सूखना शुभ नहीं मानी जाती है।

👉 ये भी पढें--

0 comments: